India

पोस्ट ऑफिस की बेहतरीन स्कीम, निवेश के लिए बेहतर विकल्प एवं उच्च ब्याज दर

अगर आप भविष्य के लिए निवेश का प्लान बना रहे है। तो पोस्ट ऑफिस स्कीम आपके लिए बेहतर विकल्प हो सकती है। क्योकि पोस्ट ऑफिस स्कीम में निवेश काफी सुरक्षित होने के साथ साथ उच्च ब्याज दर भी शामिल है। हम यहाँ पर बात करने वाले है पोस्ट ऑफिस MIS स्कीम के बारे में, जिसमे आपको वर्तमान में 7​.4 फीसदी की ब्याज दर मिल रही है। आइये जानते है क्या कुछ ख़ास इस स्कीम में आपको मिलने वाला है।

पोस्ट ऑफिस MIS स्कीम

पोस्ट ऑफिस की MIS स्कीम यानि की मंथली इनकम स्कीम के बारे में यहाँ पर बात करने वाले है। इस स्कीम में आपको जॉइंट एवं सिंगल दोनों ही प्रकार के निवेश की सुविधा मिलती है। सिंगल निवेश पर आपको इसमें 9 लाख रु के निवेश की अधिकतम सुविधा मिलती है । जबकि जॉइंट अकॉउंट में अधिकतम 15 लाख रु निवेश की सुविधा मिलती है। इसके साथ ही इसमें 1000 रु के मल्टीपल के रूप में निवेश किया जा सकता है।

कौन कर सकता है निवेश

पोस्ट ऑफिस की MIS स्कीम में देश का कोई भी नागरिक निवेश कर सकते है। इसमें एक व्यक्ति भी खाता खोल सकता है। जबकि 3 व्यक्ति मिलकर भी खाता खोल सकते है। इसके साथ ही इस स्कीम में 10 साल से ऊपर के बच्चे का भी अभिभावक के साथ खाता खोलने की सुविधा मिलती है। खाता खोलने के लिए आपके पास आधार कार्ड, पैन कार्ड जैसे जरुरी दस्तावेज होने जरुरी है। देश के किसी भी डाकघर में इस योजना के तहत निवेश किया जा सकता है।

निकासी एवं खाता बंद करने के नियम

पोस्ट ऑफिस की MIS स्कीम निकासी एवं खाता बंद करने के नियम भी है। यदि आपने MIS में निवेश किया है तो आप एक साल से पहले इसमें निकासी नहीं कर सकते है। यदि आप एक साल के बाद और 3 साल से पहले निकासी करते है तो इस स्कीम में 2 फीसदी की कटौती की जाती है। यदि आप 3 साल के बाद और 5 साल से पहले इसमें निकासी करते है तो खाते में 1 फीसदी की कटौती लागु है। इस स्कीम में मेचोरिटी 5 साल की होती है। अगर MIS स्कीम अकॉउंट में लाभार्थी की मेचोरिटी से पहले मृत्यु हो जाती है। तो नॉमिनी को पूरी जमा राशि मिल जाती है।

Priyanshi Rao

Priyanshi Rao is the Co-founder of this website and has 6 years of experience in journalism. After working for several major websites, she launched her own web portal, which you are currently visiting. On this portal, you can read daily news updates, as well as articles on government schemes, employment, and education. You can also follow us on social media.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *